Aadhar card se kitne sim chalu hai kaise pata kare

आज के समय में मोबाइल यूजर की संख्या काफी बढ़ गया है  उसी तरह टेलिकॉम कंपनियां भी यूजर्स को अपनी तरफ लाने के लिए बहुत ही अच्छी अच्छी ऑफर भी दे रही है इसलिए लोग अब एक सिम कार्ड के बजाए दो या दो से अधिक सिम कार्ड रखने लगे है.

पहले के समय में एक सिम कार्ड को लेने के लिए एक फॉर्म को भरना पड़ता था जिसको हम CAF या Customer Acquisition form  कहते है जिसके साथ एक पहचान प्रमाण पत्र या Identity proof, एक पता प्रमाण पत्र या Address proof और एक फोटो की अबश्य्स्क पड़ता था.

पर आज के समय में एक सिम कार्ड लेना बहुत ही आसान हो गया है जिसके लिए आपको सिर्फ अपनी आधार कार्ड की जरुरत पड़ती है और आधार कार्ड के ज़रिये आप e-KYC करके अपने नाम पे एक या एक से अधिक सिम कार्ड ले सकते है वह भी बिना किसी फॉर्म को भरके. अब जानते है की एक व्यक्ति अधिकतम  कितना सिम कार्ड रख सकता है.

DoT (Department of Telecommunications) या दूरसंचार विभाग अनुसार एक व्यक्ति अपने आधार कार्ड या अपने नाम से अधिकतम 9 सिम कार्ड ले सकता है पर जम्मू-कश्मीर और नार्थ ईस्ट के लोगो के लिए यह 6 तक सीमित है मतलब यहाँ के लोग अपने नाम पे या आधार कार्ड से अधिकतम 6 सिम कार्ड ले सकता है.

पर हाल ही में भारत सरकार के निर्देश अनुसार जिन लोगो के पास 9 से ज्यादा सिम कार्ड है उनका कनेक्शन काटने के आदेश जारी किया गया है और जिन लोगो के नाम पे लिया हुआ सिम कार्ड का कोई यूज़ नहीं हो रहा है उन सभी सिम कार्ड को डीएक्टिवेट करने के लिए सर्विस प्रोवाइडरोंको कहा गया है.

यह इसलिए क्यूँ की ऐसे बहुत से शिकायत सामने आ रहे है जिसमे एक व्यक्ति के नाम से एक से अधिक सिम कार्ड एक्टिवेट किया गया है और उन्हें इसके बारेमे पता ही नहीं और इन सभी सिम कार्ड के मदद से आज कल सभी प्रकार के ऑनलाइन फ्रॉड या गैरकानूनी काम हो रहे है. तो ऐसे हालत में आपको भी पता रहना चाहिए की आपके आधार कार्ड से कितना सिम चालू है और अगर ऐसा कोई सिम कार्ड एक्टिवेट है जो आप यूज़ नहीं कर रहे तो उसे कैसे डीएक्टिवेट करें.

आधार कार्ड से कितना सिम चालू है कैसे पता करे

आपकी आधार कार्ड से कितना सिम चालू है उसे पता करना बहुत ही आसान है इसके लिए DoT (Department of Telecommunications) या दूरसंचार विभाग द्वारा एक Consumer portal यानी एक वेबसाइट में जाना होगा जिसका नाम है  TAF-COP ( Telecom Analytics for fraud management and consumer protection) है.

यह वेबसाइट ग्राहकों को फ्रॉड यानी धोकाधड़ी की सूचना देना, उनसे बचना और आवश्यक पड़ने पर उचित कारवाई करने की उपाय किए गए है. इस वेबसाइट को आप दूरसंचार विभाग की ऑफिसियल  पोर्टल से access कर सकते है या फिर इस लिंक tafcop.dgtelecom.gov.in के ऊपर क्लिक करके भी TAF-COP पोर्टल को access कर सकते है.

TAF-COP को कैसे access करे और कैसे काम करता है.

Step- 1 – सबसे पहले इस TAF-COP की वेबसाइट को ओपन करना होगा जिसके लिए आपको इस लिंक tafcop.dgtelecom.gov.in के ऊपर क्लिक करना होगा.

Step- 2 – वेबसाइट ओपन होने के बाद Enter your mobile number के बॉक्स में आपका मोबाइल नंबर देना होगा और निचे वाले Request OTP वाले बटन के ऊपर क्लिक करना होगा.

Step- 3 – फिर अगले स्क्रीन में आपको द्वारा ऊपर में दिए गए मोबाइल नंबर में एक 6 अक्षर का एक OTP आएगा जिसको आपको OTP बॉक्स में डालना होगा और Validate वाले बटन के ऊपर क्लिक करना होगा.

अगर OTP नहीं आया तो आपको फिर से Resend OTP के ऊपर क्लिक करना होगा और OTP आपके द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर पर आ जाएगा.

Step- 4 – OTP को validate करने के बाद आपके आधार कार्ड से जुडी सारी मोबाइल नंबर या सिम कार्ड आपके स्क्रीन में दिख जाएंगे.

Step- 5 – अगर आपके आधार कार्ड से जुडी सारी नंबर सही है तो आपको कुछ करना नहीं होगा सिर्फ निचे स्थित Logout वाले बटन के ऊपर क्लिक करके Logout हो जाना है.

पर अगर आपके आधार कार्ड से जुड़ी कोई नंबर आपका नहीं है या पहले कोई नंबर था पर उसको यूज़ नहीं कर रहे तो आपको स्क्रीन में मौजूद सभी नंबर के निचे तिन ऑप्शन मिलेंगे जैसे की पहला This is not my number, दूसरा Not Required और तीसरा Required.

अगर स्क्रीन में दिए गए नंबरों में से कोई नंबर आपका नहीं है तो उस नंबर के निचे स्थित This is not my number वाले आप्शन को क्लिक करना होगा, दूसरा कोई नंबर अब आप यूज़ नहीं कर रहे है तो उस नंबर के निचे स्थित Not Required वाले आप्शन पे क्लिक करना होगा और तीसरा अगर आपके पास 9 से ज्यादा नंबर है तो जिस जिस नंबर आपको चाहिए होगा उन सभी नंबर को चुनना होगा और उस नंबर के निचे स्थित Required वाले आप्शन के ऊपर क्लिक करना होगा.

पर सबसे पहले आपको Name of User वाले बॉक्स में अपना नाम डालना होगा और फिर जिस नंबर को रखना है या जिस नंबर को नहीं रखना है उसे सेलेक्ट करके निचे स्थित Report वाले बटन के ऊपर क्लिक करना होगा.

इसी तरह आप अपना आधार कार्ड से जुडी सारी सिम कार्ड की सुचना जान सकते है और जरुरत पड़ने पर शिकायत या Report भी कर सकते है.

Step- 6 – शिकायत दर्ज करने के बाद आपको एक मेसेज आएगा जिसमे आपको एक Tracking ID दी जाएगी जिसकी मदद से आप अपना दर्ज किया हुआ शिकायत की स्थिति को जान सकते है.

निष्कर्ष

दूरसंचार विभाग द्वारा बनाया गया यह वेबसाइट आज के समय में मोबाइल नंबर से हो रहे सभी प्रकार के ऑनलाइन फ्रौड़ को रोकने और उचित कारबाई करने के लिए एक बहुत ही कारीगर वेबसाइट है.

मुझे आशा हैं की मेंरे द्वारा लिखा गया यह पोस्ट जिसका शीर्षक हैं “Aadhar card se kitne sim chalu hai kaise pata kare आप लोगों को ज़रूर अच्छा लगा होगा और कुछ सिखने को मिला होगा. और अगर आपको यह article अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ या facebook, instagram में शेयर कर सकते हैं.

यहाँ तक पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप का दिन शुभ हो.

ई.मेल  – hindimation@gmail.com

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status